हाथरस में पीड़िता परिवार से मिलने के लिए रवाना हुए राहुल और प्रियंका गांधी, DND पर बढ़ायी गयी सुरक्षा

उत्तर प्रदेश के जिला हाथरस के एक छोटे से गांव में हुए कथित गैंगरेप के मामले की पीड़िता परिवार से मिलने के लिए प्रियंका गांधी और राहुल गांधी रवाना हो गए हैं। 19 वर्षीय दलित युवती के साथ हुई बर्बरता से पूरी सियासत गरमाई हुई है इस सबके बीच उत्तर प्रदेश प्रभारी व कांग्रेस के महासचिव प्रियंका गांधी व उनके भाई राहुल गांधी पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए रवाना हो चुके हैं आज वह पीड़िता के परिवार से मिलेंगे साथ ही प्रियंका गांधी और राहुल गांधी के हाथरस आने की खबरों के चलते सीमा पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है कुछ सीमाएं सील भी कर दी गई है हाथरस जिले में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है जिसके तहत 5 से अधिक लोगों को एक जगह इकट्ठा होने की बिल्कुल भी अनुमति नहीं है इतना ही नहीं दिल्ली नोएडा बॉर्डर पर भी सुरक्षा और बढ़ा दी गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राहुल गांधी और प्रियंका सुबह 11:00 बजे के करीब हाथरस के लिए रवाना हो सकते हैं, हालांकि वह कितने बजे हाथरस आएंगे इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है वहीं दूसरी, ओर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के आने की सूचना के बाद यूपी पुलिस अलर्ट पर है ऐसा माना जा रहा है कि दोनों को डीएनडी पर ही रोका जा सकता है। इतना ही नहीं प्रशासन ने जिले में 31 अक्टूबर तक के लिए धारा 144 लागू कर दी है। हाथरस जिले की सभी सीमाओं को सील भी कर दिया गया है गांव में बैरिकेडिंग कर पीड़ित के घर जाने वाले रास्ते को पूरी तरीके से बंद कर दिया गया है।

गांव को छावनी बनाया गया,मुख्य मार्ग हुई बेरिकेडिंग-

हाथरस जिले में पीड़िता के गांव में पुलिस जवानों की तैनाती बढ़ा दी गई है पूरा गांव छावनी जैसा नजर आ रहा है कोई भी बाहरी व्यक्ति गांव में ना तो आ सकता है ना ही कोई गांव का व्यक्ति बाहर जा सकता है। कोई भी बाहरी व्यक्ति गांव में पीड़ित के घर तक ना पहुंच सके इसके लिए गांव के बाहर मुख्य मार्ग पर ही बैरियर लगा दिए गए हैं मीडिया हाउसेस तथा मीडिया वालों को भी गांव में आने जाने की इजाजत नहीं है एडीएम स्तर के अधिकारी गांव के एंट्री पॉइंट पर तैनात हैं ।

DM-SP ने कहा “शहर में नहीं घुसने देंगे”

हाथरस जिले के डीएम और एसपी विक्रांत भीड़ ने बताया है कि हमें राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के आने के बारे में कोई प्रोटोकॉल के तहत जानकारी अभी तक रिसीव नहीं हुई है हाथरस जिले की सीमाएं पहले से सील हैं और और आगे कब तक चल रहने वाली है इस पर अभी कोई विचार नहीं किया गया है जिले में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है 5 से अधिक लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं है किसी को हाथरस की तरफ नहीं आने दिया जाएगा क्योंकि राजनीतिक एलिमेंट की वजह से भीड़ बढ़ सकती है लॉ एंड ऑर्डर बिगड़ने की आशंका को देखते हुए सभी सीमाओं पर ही रोक लगा दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here