हाथरस गैंगरेप मामला: SIT करेगी पूरे मामले की जांच,फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा केस

बीते दिनों हुए हाथरस गैंग रेप कांड को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अपनाते हुए एसआईटी गठित कर दी है साथ ही मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने के लिए भी जल्द से निर्देश दिए हैं ।

Androidexpert.net

लखनऊ । हाथरस गैंग रेप हत्याकांड में योगी सरकार ने कड़ा रुख अपना लिया है इस मामले मैं सरकार विपक्षी पार्टियों द्वारा घिर चुकी है इस मामलेे चौतरफा हमले झेल रही सरकार ने आपकी इसकी जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी है। आपको बता दें कि इस मामलेे की जांच के लिए गृह सचिव सहित तीन सदस्योंं की कमेटी गठित कर दी गई है ।

एसआईटी के अध्यक्ष गृह सचिव भगवान स्वरूप डीआईजी चंद्रप्रकाश और सेनानायक पीएसी आगरा पूनम होंगी इसके अलावा सीएम योगी आदित्यनाथ ने पूरे मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में लाने के निर्देश दिए हैं कमेटी को जल्द से जल्द मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए गए हैं, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मामले में पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया था इस मामले में पुलिस की भूमिका पर भी काफी ज्यादा सामान रहे हैं जो कि अभी तक उत्तर प्रदेश में उत्तर प्रदेश की पुलिस पर उठते आए है ।

जब घिर गई योगी सरकार –

जैसा कि आप सभी के सामने उल्लेखनीय है कि बीते दिनों हाथरस में हुए दलित युवती के साथ गैंगरेप के मामले में मुख्यमंत्री योगी सरकार की काफी आलोचना हुई है। सरकार पर इस मामले में विपक्षी पार्टियों ने काफी ज्यादा हमला किया है और साथ में बड़े-बड़े सेलिब्रिटी ओं ने भी सरकार की निंदा की है साथ ही सभी विपक्षी पार्टियों और सेलिब्रिटी आरोपियों को सजा देने की मांग कर रहे हैं। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने तो इस मामले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस्तीफा मांगा है ।

क्या है पूरा मामला-

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 14 सितंबर को हाथरस की एक दलित युवती के साथ गैंगरेप होने की खबर सामने आई थी इस पर पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है युवती अपने घर से किसी काम से अपने खेत पर अपनी माता के साथ गई थी अक्सर वह घर से बाहर नहीं जाती है मौका पाकर खेत पर बैठे चारों उच्च जाति के लोगों ने उसके साथ जबरदस्ती सामूहिक दुष्कर्म किया, उसके बाद उसको काफी ज्यादा मारा पीटा जिससे उसकी रीढ़ की हड्डी भी टूट गई एक-दो दिन के बाद इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

आपकी क्या राय है-

इस पूरे घटनाक्रम पर आपकी क्या राय है यह आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और आप किस तरीके से आरोपियों की सजा जाते हैं यह भी आप कमेंट में हमें जरूर बताएं क्योंकि सरकार ने इसकी जांच के लिए कमेटी तो गठित कर दी है लेकिन देखते हैं कि कितने समय के बाद आरोपियों को सजा मिलती है अगर आप भी योगी सरकार से कुछ सवाल जवाब पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट में हमको फीडबैक दे सकते हैं धन्यवाद आज का आर्टिकल एंड न्यूज़ पढ़ने के लिए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here