ब्लैक फंगस के लक्षण क्या है? इससे कैसे बचें ?

नमस्कार दोस्तों दुनिया में कोरोनावायरस के बाद ब्लैक फंगस नामक एक बीमारी सामने आ रही है इसके कुछ मामले भारत में भी देखने को मिले हैं आज हम ब्लैक फंगस के लक्षण आपको बताएंगे साथ में इसके क्या उपचार है किस तरीके से आप इससे बच सकते हैं डॉक्टर की इसमें क्या राय है आज के आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं बड़े ही ध्यान पूर्वक आज का आर्टिकल पढ़िएगा।

यह बीमारी ज्यादातर कोरोनावायरस से ठीक हो चुके व्यक्तियों में देखने को मिल रही है, कोरोना मरीजों में इसके काफी ज्यादा मामले बढ़ रहे हैं। देश के आम नागरिकों को इस बीमारी से जागरूक करने के लिए भारत के जाने-माने हेल्थ एक्सपर्ट ने आज विस्तार से बात की है अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के डॉक्टर रणदीप गुलेरिया और मशहूर अस्पताल मेदांता के डॉक्टर नरेश त्रेहन ने ब्लैक फंगस पर विस्तार से चर्चा व जानकारी दी है।

न करें स्टेरॉयड का ज्यादा इस्तेमाल-

ब्लैक फंगस के इन्फेक्शन से बचने के लिए डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने तीन सबसे महत्वपूर्ण फैक्ट सबके सामने रखें, उन्होंने बताया कि ब्लड शुगर लेवल का अच्छा नियंत्रण, जो स्टेरॉइड पर है, वह लोग रोजाना ब्लड शुगर लेवल चेक करते रहें और लगातार इस बात का ध्यान रखें कि स्टेरॉयड कब बा दिन में कितनी खुराक देनी है ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना है।

कुछ दावे झूठे है –

ब्लैक फंगस को लेकर भारत में काफी ज्यादा अफवाहें भी सामने आई हैं उन्हें अफवाहों पर से पर्दा उठाते हुए डॉक्टरों ने एक सलाह दी है , अफवाहों में यह बात सामने आई है कि यह रोग यानी ब्लैक फंगस कच्चा खाना खाने से हो रहा है यह बात बिल्कुल झूठ है यह सच इसका कोई भी आंकड़ा किसी भी लैब के पास नहीं है वही ऑक्सीजन के इस्तेमाल से भी इसका कोई लेना देना नहीं जिन लोगों को ऑक्सीजन नहीं दी गई है वह होम आइसोलेशन में है उनको भी यह रोग हो रहा है।

लक्षण क्या है-

मेदांता अस्पताल के चेयरमैन डॉ नरेश त्रेहन ने ब्लैक फंगस के कुछ लक्षण बताएं हैं जिसमें कोविड-19 मरीज को हुए ब्लैक फंगस में नाक में भारीपन, गालों पर सूजन या गाल का फूलना मुंह के अंदर पेच, आंखों की पलकों का अत्यधिक सूझना । इसके लिए सख्त मेडिकल इलाज की जरूरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here